डायनासोर से इंसान में फैला था ये वायरस, करोड़ों साल बाद आज भी हर आदमी के अंदर है मौजूद

आजतकआपनेयेसुनाहोगाकिइंसानकीउत्पत्तिसेकाफीपहलेदुनियासेडायनासोरकासफायाहोगयाथा.यानीडायनासोरऔरइंसानोंकेबीचकाफीआमना-सामनानहींहुआ.लेकिनऑक्सफ़ोर्डयूनिवर्सिटी((OxfordUniversity)केप्रोफ़ेसरनेदावाकियाहैकिडायनासोरसेएकवायरसइंसानोंकीबॉडीमेंकरोड़ोंसालपहलेआगयाथा.येवायरसआजभीहरइंसानकीबॉडीमेंमौजूदहै.इसवायरसकानाममेवरिक((Maverickvirus)है.इसप्राचीनवायरसकीउम्रडायनासोरकेबराबरहै.यानीयेवायरसकरोड़ोंसालपुरानाहै.

प्रोफ़ेसरएरिसनेबतायाकिवायरसइंसानकेजीनमेंछिपकरआजभीमौजूदहै.इसकेपीछेप्रोफ़ेसरनेतर्कदिएहैं.उन्होंनेबतायाकियेवायरसइंसानकीबॉडीमेंफॉसिलसेआयाहोगा.होसकताहैकिकिसीफॉसिलमेंयेवायरसहोगाऔरउसफॉसिलकेसंपर्कमेंआएइंसानसेयेवायरसह्यूमनबॉडीमेंपहुंचगयाहोगा.साइंटिस्ट्सकोएकफॉसिलमिलाथा,जिसमेंमेवरिकवायरसथा.जबह्यूमनडीएनएकीजांचकीगई,तोउसमेंभीयेवायरसमिला.

रिसर्चपेपरमेंकईखुलासे

अपनेरिसर्चपेपरमेंप्रोफ़ेसरएरिसऔरउनकेसाथजोसगेब्रियलनीनोबर्रेटनेलिखाकियेवायरसअसलमें105मिलियनसालपुरानाहै.येइंसानोंमेंभीमौजूदहै,येवाकईशॉकिंगहै.इंसानकेDNAमेंमिलायेसबसेपुरानावायरसहै.इंसानमेंमिलेइसवायरसकीअसलीउम्र105मिलियनसालसेभीज्यादाबताईजारहीहै.कहाजारहाहैकिअसलमेंये268सालपुरानाहै.रिसर्चमेंसामनेआयाकियेअभीतककामिलासबसेपुरानावायरसहै.

इंसानोंपरकैसाहैवायरसकाअसर?

इससमयपूरीदुनियाकोरोनावायरससेजूझरहीहै.मात्रदोसालमेंइसवायरसनेलोगोंकीलाइफमेंकाफीउठा-पटकमचादीहै.ऐसेमेंइतनाप्राचीनवायरसइंसानकीबॉडीपरक्याअसरडालचुकाहोगा,अबइसकीशोधकीजाएगी.इतनेसालोंबादयेवायरसइंसानकीबॉडीमेंकाफीघुलमिलगयाहैऔरइसकाकोईअसरनजरनहींआयाहै.लेकिनप्रोफ़ेसरएरिसअबइसपरऔरगहनजांचकरनेकाइरादाकररहेहैं.

ब्रेकिंगन्यूज़हिंदीमेंसबसेपहलेपढ़ेंNews18हिंदी|आजकीताजाखबर,लाइवन्यूजअपडेट,पढ़ेंसबसेविश्वसनीयहिंदीन्यूज़वेबसाइटNews18हिंदी|

Tags:AjabGajab,Khabrejarahatke,OMGNews,Shockingnews,Viralstory,Weirdnews