देश भर के लिए कोरोना टेस्ट का एक रेट तय हो: सुप्रीम कोर्ट

नईदिल्लीकोरोनामामलेमेंसुप्रीमकोर्टनेसुनवाईकेदौरानकेंद्रसरकारकेसॉलिसिटरजनरलतुषारमेहतासेकहाकिदेशभरमेंकोरोनाटेस्टकाएकहीरेटहोनाचाहिए।अदालतनेकहाकिकहीं2200रुपयेलिएजारहेहैंतोकिसीराज्यमें4500रुपयेचार्जहै।ऐसेमेंकोरोनाटेस्टकाएकरेटहोनाचाहिए।सुप्रीमकोर्टनेकेंद्रसेकहाकिआपअपररेटतयकरें।सुनवाईकेदौरानसुप्रीमकोर्टनेकोरोनाकाइलाजकरनेवालेअस्पतालोंकेवॉर्डमेंसीसीटीवीलगानेकोभीकहाहै।अगलीसुनवाई8जुलाईकोहोगी।सुप्रीमकोर्टने12जूनकोकहाथाकिकोरोनामहामारीमेंस्थितिबेहदडरावनीऔरभयावहहै।सुप्रीमकोर्टनेकहाथाकिडेडबॉडीकेबीचकोरोनापेसेंटइलाजहोरहाहैं।सुप्रीमकोर्टनेमामलेमेंकेंद्रसरकारवदिल्लीकेसाथतीनअन्यराज्योंकोकोरोनामरीजकीमौतकेबादडेडबॉडीकेरखरखावकेमामलेमेंनोटिसजारीकरजवाबदाखिलकरनेकोकहाथा।कोरोनाकेमरीजोंकीमौतकेबादडेडबॉडीकेरखरखावकेतरीकेपरसुप्रीमकोर्टनेचिंताजाहिरकरतेहुएमामलेमेंसंज्ञानलेकरसुनवाईकररहीहै।शुक्रवारकोसुनवाईकेदौरानसुप्रीमकोर्टनेकहाकिएक्सपर्टकीटीमकोअस्पतालोंमेंविजिटकरनाचाहिएऔरअदालतनेकहाकिकोरोनामरीजकीमौतकेबादडेडबॉडीकेरखरखावकेमामलेमेंजोखामियांहैंउसेदूरकियाजाए।मामलेकीसुनवाईकेदौरानदिल्लीसरकारकेवकीलसंजयजैननेकहाकिकिसीभीडॉक्टरपरकोईकेसनहींहै।तबसुप्रीमकोर्टनेकहाकिहमआपकोपिछलीसुनवाईमेंकहचुकेहैंकिसूचनादेनेवालोंकोनिशानानबनायाजाए।अदालतकोतबसंजयजैननेबतायाकिपहलेएक्शनलेनेपरविचारकियागयाथालेकिनअबउसेवापसलेलियागयाहै।कुछविधायीप्रावधानकेउल्लंघनकेमामलेमेंसरगंगारामअस्पतालपरकेसदर्जकियागयाहै।सुप्रीमकोर्टनेकहाकिरेटतयकरनेकेलिएकमिटीहोनीचाहिए।अदालतनेकेंद्रसरकारसेकहाहैकिअस्पतालोंमेंएकटीमकारेग्युलरइंस्पेक्शनहोऔरअस्पतालोंमेंसीसीटीवीलगायाजाए।सुप्रीमकोर्टकोदिल्लीसरकारकेवकीलनेबतायाकिडॉक्टरकेखिलाफशिकायतवापसलेलीगईहै।इसीदौरानसुप्रीमकोर्टनेदिल्लीसरकारकेवकीलसेकहाकिवहपताकरेंकिअंसलब्रदर्सनेउपहारकेसमेंजुर्मानेकेतौरपर60करोड़रुपयेट्रॉमासेंटरबनानेकेलिएजोडिपॉजिटकियाथाउसकाक्याहुआ।अदालतनेतमामराज्योंसेमामलेमेंस्टेटसरिपोर्टपेशकरनेकोकहाहैऔरअगलीसुनवाईआठजुलाईतयकरदीहै।जस्टिसअशोकभूषणनेमामलेकीसुनवाईकेदौरानकहाकिदेशभरमेंकोरोनाकेटेस्टकाएकरेटहोनाचाहिए।तबसॉलिसिटरजनरलतुषारमेहतानेकहाकिकुछराज्योंमें2200तोकुछराज्योंमें4500रेटतयहै।सुप्रीमकोर्टनेकहाकिसभीजगहएकरेटतयहोनाचाहिए।इसपरमेहतानेकहाकियेराज्योंपरछोड़ाजानाचाहिएक्योंकिराज्यइससेभीकमरेटतयकरनेपरविचारकररहेहैं।इसपरसुप्रीमकोर्टनेकहाकिआपऊपरकाएकरेटतयकिजिएऔरबाकीराज्योंपरछोड़िये।सुप्रीमकोर्टनेकहाकिदेशभरमेंटेस्टिंगकाएकरेटहोनाचाहिएऔरकेंद्रसरकारकोइसमेंसमन्वयस्थापितकरनाचाहिए।सुप्रीमकोर्टनेमहाराष्ट्रसरकारकीउसदलीलकोखारिजकरदियाजिसमेंमरीजऔरउसकेरिलेटिवकोकोरोनाटेस्टकीपॉजिटिवरिपोर्टनदेनेकीबातकहीथी।तबसुप्रीमकोर्टनेकहाकिमरीजऔरउसकेरिश्तेदारोंकोकोरोनापॉजिटिवरिपोर्टजरूरदियाजानाचाहिए।