एमटेक की दो सब्सिडियरी का कंट्रोल अपने हाथों में लेंगे बैंक

[संगीतामेहता|मुंबई]बैंकएमटेकऑटोकीदोसब्सिडियरीकाकंट्रोलअपनेहाथमेंलेनेजारहेहैं।कंपनीपिछलेसालबॉन्डपरडिफॉल्टकरगईथी।बैंकसिद्धांततौरपरकास्टेक्सटेक्नोलॉजीजऔरमेटालिस्टफोर्जिंगकाकंट्रोललेनेकोराजीहोगएहैं।येदोनोंएमटेकऑटोकीलिस्टेडसब्सिडियरीहैं।बैंकिंगसर्किलकेसूत्रोंनेबतायाकिमुंबईकीहालियामीटिंगमेंआईडीबीआईबैंककीअगुवाईमेंबैंकअपनेकर्जकाएकहिस्साइक्विटीमेंबदलनेकोराजीहुए।स्ट्रैटेजिकडेटरिस्ट्रक्चरिंग(SDR)सिस्टमलागूकरकेकंपनीकाकंट्रोलअपनेहाथमेंलेसकतेहैं।SDRसेउनकोअपनेलोनकाएकहिस्साइक्विटीमेंबदलनेकाअधिकारमिलजाताहै।यहतबहोताहैतबडेटरिस्ट्रक्चरिंगकंपनीकेरिवाइवलमेंकारगरसाबितनहींहोपातीहै।दोसीनियरबैंकरोंनेबतायाकिबैंकअपनेहेडऑफिसकीइजाजतमिलनेकेबादएमटेकऑटोकीदोसब्सिडियरीमेंSDRलागूकराएंगे।सीनियरबैंकरोंनेकहाकिदोनोंकंपनियोंमेंबैंकोंका7000करोड़रुपयेसेथोड़ेज्यादाकाएक्सपोजरहै।ईटीकोइसमामलेमेंज्यादाजानकारीकेलिएकंपनीकोभेजेगएईमेलकाजवाबखबरलिखेजानेतकनहींमिलपायाथा।इनकंपनियोंमेंबैंकोंकाजोएक्सपोजरहै,उसकेहिसाबसेयहसाफनहींहैकिलॉसमेकिंगकंपनियोंमेंएसडीआरलागूकराएजानेसेकितनाफायदाहोगा।इनकामार्केटकैपिटलइनकीउधारीका10पर्सेंटसेभीकमरहगयाहै।कास्टेक्सटेक्नोलॉजीजमें23बैंकोंका4850करोड़रुपयेकाएक्सपोजरहै।कंपनीकोफिस्कलईयर2016में466करोड़रुपयेकानेटलॉसहुआथा।इसकामार्केटकैप421करोड़रुपयेहै।जहांतकमेटालिस्टफोर्जिंगकीबातहैतोउसमें17बैंकोंका2100करोड़रुपयेकाएक्सपोजरहै।कंपनीकोफिस्कलईयर2016में230करोड़रुपयेकानेटलॉसहुआथा।उसकामार्केटकैपअभी187करोड़रुपयेहै।लगभग32बैंकोंनेअरविंदधामकेप्रमोटेडएमटेकऑटोग्रुपको21000करोड़रुपयेकालोनदियाहुआहै।ग्रुपकईमारुतिसुजुकीसहितऑटोमोबाइलकंपनियोंकोकंपोनेंट्ससप्लाईकरतीहै।पिछलेसालसेकंपनीकोवित्तीयमुश्किलोंकासामनाकरनापड़रहाहै।फिस्कलईयर2015-16मेंकंपनीको945करोड़रुपयेकालॉसहुआथा।कंपनीपिछलेसाल22सितंबरकोड्यू800करोड़रुपयेकेबॉन्ड्सपरभुगताननहींकरपाईथी।आरबीआईकेबनाएस्ट्रैटेजिकडेटरिस्ट्रक्चरिंग(SDR)सिस्टममेंबैंककिसीकंपनीकेलोनकाएकहिस्साइक्विटीमेंबदलसकतेहैंऔरउसमें51पर्सेंटइक्विटीलेसकतेहैं।लेकिनउनको18महीनेकेभीतरकंपनीकेलिएनयाप्रमोटरढूंढनाहोगा।