निजी अस्पतालों के डॉक्टर्स की हड़ताल से मरीज हलकान

जागरणसंवाददाता,सोनीपत:निजीडॉक्टरोंकेहड़तालपरचलेजानेसेआमजनताकोभारीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़ा।एकतरफनेशनलमेडिकलकमीशनबिलकेविरोधमेंहड़तालपररहेनिजीअस्पतालोंकेडॉक्टरोंकेकारणमरीजोंकाइलाजनहींहुआ,वहींनागरिकअस्पतालमेंस्टाफकर्मियोंकीबैठककेकारणमरीजोंकोइलाजकेलिएजद्दोजहदकरनीपड़ी।

नेशनलमेडिकलकमीशनबिलकेविरोधमेंडॉक्टरहड़तालपररहे।इसबिलमेंअल्टरनेटिवमेडिसिन(होम्योपैथी,आयुर्वेद,यूनानी)कीप्रैक्टिसकरनेवालेडॉक्टरोंकेलिएएकब्रिजकोर्सकाप्रस्तावहै।इसेकरनेकेबादवेमॉडर्नमेडिसिनकीप्रैक्टिसभीकरसकेंगे।इसकाविरोधशुरूहोगया।मंगलवारकोजिलेकेसभीनिजीअस्पतालवनर्सिंगहोमइंडियनमेडिकलएसोसिएशनकेबैनरतलेहड़तालपररहे।अस्पतालसंचालकोंनेगेटकेबाहरसूचनापत्रभीचस्पाकियाथा।डॉक्टरोंनेसेक्टर14स्थितअग्रसेनभवनमेंएकत्रितहोकरबिलकेखिलाफरोषजताया।आइएमएकेजिलाप्रधानडॉ.महेशगुप्तानेकहाकिइसबिलमेंऐसेप्रावधानहैं,जिससेआयुषडॉक्टरकोभीमॉडर्नमेडिसिनप्रैक्टिसकरनेकीअनुमतिमिलजाएगी।जबकिइसकेलिएकमसेकमएमबीबीएसहोनाचाहिए।इससेनीम-हकीमीकरनेवालेभीडॉक्टरबनजाएंगे।

डॉक्टरोंनेहड़तालसुबहछहबजेसेशामछहबजेतकबुलाईगईथी,लेकिनलोकसभामेंबिलपासनहोनेकेकारणइसेकरीबपांचबजेहीवापसलेलिया।

इलाजकेलिएभटकतेरहेमरीज

निजीअस्पतालोंकीहड़तालकेकारणमरीजोंकोकाफीपरेशानीकासामनाकरनापड़ा।एकनिजीअस्पतालमेंआपातकालीनमरीजकोभर्तीनहींकियागया।वहींनागरिकअस्पतालमेंभीमरीजोंकोपरेशानीकासामनाकरनापड़ा।गांवशहजानपुरनिवासीराजकुमारकोमंगलवारआपसीझगड़ेमेंसिरपरकाफीचोटेंआई।परिजनउसेलेकरलघुसचिवालयरोडस्थितएकनिजीअस्पतालमेंलेकरपहुंचे।राजकुमारकाआरोपहैकिवहांकेस्टाफनेहड़तालकीबातकहउसकाइलाजकरनेसेमनाकरदिया।इसकेबादपरिजनउसेलेकरनागरिकअस्पतालमेंपहुंचे।यहांभीस्टाफकर्मियोंकीएकबंदकमरेमेंबैठकचलरहीथी।आपातकालीनकक्षमेंदोकर्मचारीतोथे,लेकिनवहांउसकेसिरपरपट्टीकररोहतकपीजीआइकेलिएरेफरकरदिया।जबमीडियाकर्मियोंनेमामलेमेंदखलदियातोराजकुमारकेटांकेभरेगएऔरजांचकीगई।

इंडियनमेडिकलएसोसिएशननेनेशनलमेडिकलकमीशनबिलकेविरोधमेंहड़तालकीहै।सभीनिजीअस्पतालोंमेंकेवलओपीडीकोबंदरखागया।आपातकालीनसेवाएंसुचारुरूपसेचालूरही।उनकामरीजोंसेकोईभेदभावनहींहै।

डॉ.महेशगुप्ता,जिलाप्रधान,आइएमए

आइएमएकीहड़तालकेकारणमरीजोंकोकोईपरेशानीनहो,इसकेलिएओपीडीवआपातकालीनकक्षमेंअतिरिक्तस्टाफनियुक्तकिएगए।साथहीओपीडीकासमयभीचारबजेतकरहा।मरीजोंकोअगरपरेशानीहुईतोइसबारेमेंजानकारीमांगीजाएगी।

डॉ.सीपीअरोड़ा,पीएमओ,नागिरकअस्पताल